तिरछी आखों से | #RhythmicWednesday

तिरछी आखों से तुम्हे देखती हूँ , जब तुम खिलखिला के हंसते हो। तुम्हारी हंसी के रंग, एक तस्वीर की तरह, दिल के पन्नो को कुछ यूं रंगते है। तिरछी आखों से तुम्हे देखती हूँ , जब तुम बोलते हो मुझे ड्रामा क्वीन , हँसी आती है तुम्हारे अल्हड़पन पे , मुझे मेरे ड्रामा किंग, … Read More