राजनीति | #RhythmicWednesday

हिन्दू मुस्लिम की इस जंग में,
कौन जीते और कौन हारे,
कहीं मेरा देश
इस राजनीति की सजा ना गुजारे ?
धर्म नहीं सिखाता,
आपस में बैर रखना |
फिर कौन से धर्म,
के रक्षक हो तुम कभी खुद से पूछना |
क्या वो धर्म सिखाता,
दुसरो का अपमान ?
क्या वो धर्म सिखाता ,
भूल जाओ तुम पहले हो इंसान ?
करते हैं देवी की पूजा,
पर देते गाली फिरते माँ और बहन की |
क्या भयभीत हैं वो जो,
राम की तस्वीर लगा के,
देते धमकी बलात्कार की|
एक पति को कहा जाता,
कि मारो अपनी पत्नी को सही करो इसका दिमाग |
क्यूंकि हिंसक होना,
है बहुत “कॉमन” हमारे समाज में |
खो गया है कुछ,
उस भारत भूमि का जैसे,
अमन के फूल चार,
ढूंढे नहीं मिल रहे इस बाज़ार में |
सत्ता के इस खेल में,
वोटो की मारामारी है,
खरीदे हुए जो लोग हैं,
वोट के साथ बिक गए शायद उनके ज़मीर भी हैं |
धर्म की इस जंग में,
कहीं जल ना जाये,
ये देश मेरा,
कैसे उस राख में पहचानोगे फिर,
अपनी उस राख कण का अस्तित्व तुम फिर |

Leave a Reply

CommentLuv badge